Jakhar Jat gotra History and Lengends

Jakhar Jat gotra History and Lengends

कहा जाता है कि जाखू (संस्कृत में यक्ष) को जाखड़ जाट गोत्र नाम दिया गया है।

लाडा सिंह जाखड़ कबीले के सरदार थे जिन्होंने हरियाणा में झज्जर जिले के मातनहेल तहसील में लाडन गाँव की स्थापना की।

धरणी जाखड़ (985 ई।) –
रिड मल जाखड़ (1252 ई।) – रिरी- बिगगा से जाखड़ सरदार, बर्दक सेना के प्रमुख जिन्होंने मोमराज ढाका के साथ युद्ध लड़ा।

बिग्गा जी जाखड़ (1301 – 1336) – राजस्थान के जंगलदेश क्षेत्र के लोक-देवता।

प्रो. गंगा राम जाखड़ – कुलपति महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय, बीकानेर राजमार्ग संख्या 15, जैसलमेर रोड, बीकानेर -334004 फोन: 01 51 -2212041 (0), 2200181 (आर), फैक्स: 0151-2212042। ईमेल grjvcmgsub @ .rediffmail.com, वेबसाइट: www.mgsubikanerac.in

राजेंद्र सिंह जाखड़ – वॉलीबॉल खिलाड़ी
सिद्ध श्री खेमा बाबा (जाखड़) – बायतु (बाड़मेर) से

अजमेर सिंह जाखड़ – सरपंच और सामाजिक कार्यकर्ता, वी.पी.ओ: मानियाना, तेह: मूनक, जिला: संगरूर (पंजाब)

बद्री राम जाखड़ – 2009 में पाली, राजस्थान से 15 वीं लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए

नानक चंद जाखड (जन्म: 1901-) (चौधरी नानकचंद जाखड़), अलवर से, राजस्थान के अलवर में एक सामाजिक कार्यकर्ता थे।

राजा राम जाखड़ (चौधरी राजारामजी जैलदार) पंचकोशी, अबोहर, फिरोजपुर, पंजाब से थे, फिरोजपुर, राजस्थान में एक सामाजिक कार्यकर्ता थे।

उनके बेटे बलराम जाखड़ एक प्रसिद्ध सांसद और पूर्व मंत्री थे। मध्य प्रदेश के राज्यपाल।

Jakhar Jat gotra History and Lengends

पंचोली, अबोहर, फिरोजपुर, पंजाब के चुन्नी लाल जाखड़ (चौधरी चुन्नीलाल जाखड़), राजस्थान के फिरोजपुर में एक सामाजिक कार्यकर्ता थे।

रामवान राम जाखड़ (जन्म: 1887) (चौधरी जीवनराम जाखड़), रामसिया (रामसिया), नागौर, नागौर, राजस्थान के एक सामाजिक कार्यकर्ता थे।

बोहित राम जाखड़ (चौधरी बोइतराम जी) राजस्थान के गाँव सांखू, लक्ष्मणगढ़, सीकर से थे। वह शेखावाटी किसान आंदोलन के स्वतंत्रता सेनानी थे।

झुंझुनू के गडोली से भाल सिंह जाखड़ (भालसिंह जाखड़), एक स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने राजस्थान में शेखावाटी के किसान आंदोलन में भाग लिया था।

लक्ष्मण सिंह जाखड़ (जन्म: 1898) (चौधरी लक्ष्मणसिंह जाखड़), हरिपुरा, झुंझुनू से, एक स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने राजस्थान में शेखावाटी किसान आंदोलन में भाग लिया था।

डॉ. बलराम जाखड़ – पूर्व राज्यपाल मध्यप्रदेश

Jakhar

सुरिंदर कुमार जाखड़ – अध्यक्ष इफको
नवरंग सिंह जाखड़ – पूर्व विधायक नवलगढ़ (राजस्थान)

Jakhar Jat gotra History and Lengends

प्रेमराज जाखड़- प्रधान, पंचायत समिति पीलीबंगा, जिला हनुमानगढ़ (राजस्थान)
जगदीश जाखड़- वरिष्ठ छात्रनेता, जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय, जोधपुर

गीतिका जाखड़ – पहलवान
किरणदीप कौर जाखड़ – मिस वर्ल्ड पंजाबन
जसवंत राम जाखड़ -सामाजिक कार्यकर्ता

jakhar
Geetika jakhar

मेजर जनरल स्वरूप सिंह कलां – एमसी, एमवीसी, ग्राम साहलावास जिला झज्जर, हरियाणा

मास्टर सुधीर जाखड़ – राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार – 2006
रामावतार सिंह जाखड़ (रामअवतार सिंह जाखड़) – अंतर्राष्ट्रीय वॉलीबॉल खिलाड़ी

बाना राम जाखड़ – गाँव छीतर का पार (बाड़मेर), राजस्थान के समाज सुधारक
लादू राम जाखड़ – मकर झुंझुनू से स्वतंत्रता सेनानी

सुखराम जाखड़ – कमांडो सुखराम जाखड़ बीरोडी बारी राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड में है।

उन्होंने विभिन्न कमांडो गतिविधियों, वीवीआईपी कर्तव्यों में भाग लिया, विदेश में प्रशिक्षण के कई टुकड़ों में भाग लिया।

सोहन सिंह जाखड़ – दृश्य कलाकार और ग्राफिक डिजाइनर
12 जून 1999 को कारगिल युद्ध में यूनिट -04 जाट रेजिमेंट के ग्राम नाइक दया चंद जाखड़, गाँव रहनवा (सीकर) शहीद हो गए।

खरता राम जाखड़ – भानियाना जिला जैसलमेर के स्वतंत्रता सेनानी

मूल राम जाखड़ (1919-2013) – कोटरा (नीम का थाना) सीकर, राजस्थान से स्वतंत्रता सेनानी।

जगत जाखड़ – प्रसिद्ध हरियाणवी फिल्म चंद्रावल की हीरो।

Jakhar Jat gotra History and Lengends

HAV भगवाना राम जाखड़ – जाट रेजिमेंट ओपी राकेश (J & K) MARTYR 26-06-1992, राजस्थान

कालू राम जाखड़ – द जाट रेजिमेंट, ओपी VIJAY (कारगिल) MARTYR 04-07-1999, राजस्थान

एनके ओम प्रकाश जाखड़ – ग्रेनेडियर्स रेजिमेंट, ओपी राइनो (ASSAM) MARTYR 28-10000, राजस्थान

SEP किशन राम जाखड़ – सेना सेवा कोर (आपूर्ति), ओपी राकेश (J & K) MARTYR 15-08-1999, राजस्थान

प्रो. जवाहर सिंह जाखड़ – एक शिक्षाविद और सामाजिक कार्यकर्ता, जिनका जन्म 14 सितंबर 1938 को लधु राम जाखड़ और जिवानी देवी के परिवार में गाँव सांखू में हुआ था। जाट आरक्षण संघर्ष में उनकी भूमिका सराहनीय थी।

Chahar Jat Gotra

Jakhar

सुनील जाखड़ – कांग्रेस सांसद (2009) अबोहर, 2017 गुरदासपुर से

संतोष जाखड़ – डोनर विधवा
राजेंद्र सिंह जाखड़-राजस्थान के प्रमुख वॉलीबॉल खिलाड़ी

पूनम जाखड़ – माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, राजस्थान, माध्यमिक विद्यालय परीक्षा -2010 में प्रथम रैंक प्राप्त की। वह राजस्थान में झुंझुनू जिले के ओझाटू गाँव की रहने वाली है।

Jakhar Jat gotra History and Lengends

प्रवीण जाखड़ – उप संपादक राजस्थान पत्रिका, जयपुर, VPO- रहनवा, वाया- बलारन, तेह- लक्ष्मणगढ़, सीकर (राज।) – 332401।

 वर्तमान पता: क्वार्टर नंबर -4, एयरपोर्ट कॉलोनी, जयपुर एयरपोर्ट, जयपुर -302011, फोन नंबर: 0141-2724565, मोब: 9414249676, ईमेल: praveenjakhar@yahoo.co.in

पूनम जाखड़ – मेधावी छात्रा। राजस्थान मध्यम शिक्षा बोर्ड १० वीं कक्षा – २०१०, मेरिट लिस्ट से एम डी पब्लिक स्कूल ओजटू, रैंक १, मार्क्स ९ ,. %३%

कर्नल एम.के.जखर – कर्नल। (सेवानिवृत्त।), जन्मतिथि: २ ९-अगस्त -१ ९ ५०, वीपीओ – ​​गडोता, तेह- दूदू, जिला- जयपुर, वर्तमान पता: C-,१, सी-स्कीम पृथ्वी राज रोड जयपुर, फोन: ०१४१-२२8742४२, मोब: 9829077665

विष्णु कुमार वर्मा (जाखड़) – एमडी सेंट्रल को-ऑप। बैंक, जन्म तिथि: 30-नवंबर -1962, स्थायी पता: नगला सरक, हाथरस, वर्तमान पता: महेश नगर, जयपुर, फोन नंबर: 0141-2502142, मोब: 9460180559,

माघ राम चौधरी (जाखड़) – RAS (2000) गाँव कुडला (बाड़मेर) से, DOB: 1-5-258

राजीव जाखड़, सहायक कमांडेंट, CRPF.- बैच-वर्ष -2008 के “ऑल-अराउंड बेस्ट ऑफिसर”, प्रतिष्ठित “SWORD OF HONOR” और “गृह मंत्री ट्रॉफी” से सुशोभित। आर / ओ- वीपीओ- लालगढ़ जाटान, जिला- श्री गंगानगर, राजस्थान।

श्री राजबीर सिंह जौहर – सरकार। सेवा, इंस्पेक्टर दिल्ली पुलिस, 8044 / B-11, वसंत कुंज नई दिल्ली, Ph: 011-26895252 (PP-473)

श्री शिव प्रसाद जाखड़- सरकार। सेवा, संसद दुभाषिया, लोकसभा सचिवालय, नई दिल्ली, ग्रामीण और पी ओ: सांखू, वाया – बलारन, जिला – सीकर (राजस्थान) Ph: 9953721921

Jakhar Jat gotra History and Lengends

jakhar

राष्ट्रति भवन में
7 नक्सलियों को ढेर करने वाले CRPF के सहायक कमांडेंट विकास जाखड़

कैप्टन जय सिंह जाखड़ – एस / ओ कर्नल अजीत सिंह डीओबी: 17-जून -55, व्यापार, प्रबंध निदेशक, ए – 606, अंसल चैंबर-आई, भीकाजी कामा प्लेस, नई दिल्ली – 110066

A-242 विकासपुरी, नई दिल्ली – 110018, ग्रामीण और पीओ- गोचछी, जिला झाझर, हरियाणा Ph: 011-26160417, 011-25573588, 9810448603,

डॉ रणबीर सिंह जाखड़ – पिछले तीस वर्षों से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए भारत के सर्वश्रेष्ठ नागरिक पुरस्कार, निदेशक एस डी जाखड़ अस्पताल बेरी (झज्जर) से सम्मानित।

स्नेहलता जाखड़ – RJS-2011 रैंक: 17 झुंझुनू जिले से

महावीर सिंह जाखड़ -जट इतिहासकार राजस्थान में सीकर जिले की लक्ष्मणगढ़ तहसील के ग्राम सांखू से।

पन्ना सिंह जाखड़ – गाँव कोलीरा, जिला सीकर, राजस्थान से। वह शेखावाटी किसान आंदोलन के स्वतंत्रता सेनानी थे।

मूलाराम जाखड़ – फतेहगढ़, जैसलमेर से चार्टर्ड एकाउंटेंट
इंदु जाखड़ – IAS-2014, रैंक -669

Beniwal jat Gotra

jakhar

इंदु जाखड़: आईएएस 2016, हरियाणा से, एम: 8750870145
विकास जाखड़ – IAS-2014, रैंक -696।

कुलदीप जाखड़ – IAS-2014, रैंक -851।

Jakhar Jat gotra History and Lengends

दया राम Jakhar
कुलदीप जाखड़: आईआरएस (सी एंड सीई) 2014 बैच, प्लेस- सुजानगढ़, एम: 9818500439

नरेश जाखड़: IRPS-2012, फ्रॉम: झज्जर, हरियाणा, एम: 96715 57892

ऋचा जाखड़: IAS 2014 बैच, छत्तीसगढ़ कैडर। एम: +91 99 53 924884

विकास जाखड़: आईआरटीएस 2013 बैच, वडोदरा में ओटी, 9958528169

राम धन जाखड़ – रामधन जाखड़: नागौर बोर्डिंग की छात्र संख्या बढ़ाने व कुरीति निवारण में बोर्डिंग हाउस के छात्रों ने मेलों में और जगमठों में जहां कहीं भी काम किया था

चौधरी मूलचंद सियाग (1887 – 1978) के साथ गो गायन व भजनों द्वारा जनता के अंधेरों रूपी पर्दे को बचाया और प्रकाश डाला जिसमें आपकी मुख्य भूमिका थी।

Legends Of Deswal

सृष्टि जाखड़, एक जाट लड़की है, जो फतेहाबाद में पैदा हुई और पली-बढ़ी, अमेरिकी सेना में एक टैंकर (टैंकों में तैनात सिपाही) बनने वाली भारतीय मूल की पहली महिला बन गई हैं।

जाखड़ों का इतिहास

कैप्टन दलीपसिंह अहलावत लिखते हैं कि जाखड़ जाटवंश (गोत्र) दहिया जाटवंश की तरह ही बोद्धकाल से है।

इस वंश का संचालक राजा वीरभद्र का पुत्र जखभद्र था। जाखड़ चन्द्रवंशी हैं। जाखड़ एक प्रसिद्ध गोत्र है।

आरम्भ में Jakhar जाटों का दल शिवालिक की पहाड़ियों एवं हिमालय पर्वत की दक्षिणी तलहटी में रहा।

अपने देश भारतवर्ष से ये लोग विदेशों में गये और वापिस लौटकर आ गये, इसका कुछ संक्षिप्त ब्यौरा इस प्रकार से है –

महाभारत और मार्कण्डेय पुराण का हवाला देकर बी० एस० दहिया ने लिखा है कि “जाखड़ लोग कश्मीर के उत्तर में दूर मध्य एशिया बल्ख के क्षेत्र में निवास करते थे।

ये अपने केसरिया रंग के लिए सदियों तक प्रसिद्ध रहे। इसका वर्णन महाभारत में भी है।” इससे साफ है कि जाखड़ लोग कश्मीर के रास्ते से वहां पर गये।

समय के अनुसार अन्य जाटों की तरह जाखड़ जाट भी अपने पैतृक देश भारतवर्ष में लौट आए।

इनका पश्चिमी घाटियों से होकर भारतवर्ष में आना सिद्ध होता है। इन लोगों ने विदेशी आक्रमणकारियों का समय-समय पर मुकाबला इन ही पश्चिमी घाटियों पर किया।

जाखड़ जाट अफगानिस्तान, सिन्ध प्रान्त और पश्चिमी पाकिस्तान में बसे और वहां से इनकी कुछ संख्या राजस्थान में जाकर बस गई। वहां पर इन लोगों ने कई स्थानों पर राज्य किया।

Dabas Gotra History

jakhar

Jakhar Jat gotra History and Lengends

मि० डब्ल्यू क्रुक साहब ने अपनी पुस्तक “उत्तरी-पश्चिमी प्रान्त और अवध की जातियां” में लिखा है कि “द्वारिका के राजा के पास एक बड़ा भारी धनुष और बाण था।

उसने प्रतिज्ञा की थी कि उसे कोई तोड़ देगा, उसका दर्जा राजा से उंचा कर दिया जाएगा।

जाखड़ ने उस भारी कार्य की चेष्टा की और असफल रहा। इसी लाज के कारण उसने अपनी मातृभूमि को छोड़ दिया और बीकानेर में आ बसा।”

इस कहानी से साफ है कि जाखड़ गोत्र (वंश) का एक जाट राजा था जिसका राज्य गुजरात में कहीं था।

इससे पहले जाखड़ लोगों का अजमेर प्रान्त पर राज्य था। यह भाट ग्रन्थों में लिखा है।

जाखड़ राजा बीकानेर में आकर कहां बसा, इसका पता “जाट वर्ण मीमांसा” के लेखक पंडित अमीचन्द शर्मा ने दिया है कि

“जाखड़ राजा ने रेणी को अपनी राजधानी बनाया।” जाखड़ लोगों का राज्य मढौली पर भी था।

मढौली जयपुर राज्य में मारवाड़ सीमा के आस-पास थी। उस समय फतेहपुर के आस-पास मुसलमान राज्य करते थे।

इन मुसलमानों और जाखड़ों का युद्ध मढौली के पास हुआ था। जाखड़ जाटों के बीकानेर में भी कई छोटे-छोटे राज्य थे।

जब राजस्थान में राजपूतों के राज्य स्थापित हो गये तब जाखड़ जाटों का एक दल रोहतक जिला (हरयाणा) में आ गया।

इनका नेता लाढसिंह था। यहां पर जाखड़ों ने साहलावास, लडान आदि बहुत गांव बसाये।

लाढसिंह बहादुर ने एक बड़े क्षेत्र पर जाखड़ जाटों का राज्य स्थापित किया जिसकी राजधानी लडान थी।

लडान का युद्ध

दिल्ली के बादशाह की ओर से बहू झोलरी पर एक मुसलमान नवाब का शासन था।

उसने बड़ी शक्तिशाली सेना के साथ जाखड़ों पर आक्रमण कर दिया और लडान पर अधिकार कर लिया।

नवाब की सेना ने जाखड़ों के गांव को लूटना शुरु कर दिया और उन पर हर प्रकार के अत्याचार करने आरम्भ कर दिये।

जाखड़ों के बुलावे पर डीघल गांव के जाट वीर योद्धा बिन्दरा के नेतृत्व में अहलावत जाटों का एक दल जाखड़ों से आ मिला।

इन दोनों वंशों के जाटवीरों ने मुसलमान सेना एवं नवाब को मौत के घाट उतार दिया और बहू-झोलरी के किले पर अधिकार कर लिया।

एक पठान सैनिक की गोली लगने से बिन्दरा अहलावत वहीं पर शहीद हो गया।

इस तरह से Jakhar वीरों ने लडान का अपना राज्य फिर वापिस ले लिया और इनके बहुत से गांव आराम से बस गये थे।

जाटों की शक्ति से डरकर दिल्ली का बादशाह जाखड़ों पर आक्रमण करने का साहस न कर सका।

जाखड गोत्र इतिहास

आई-ने-अकबरी में लिखा है कि जाखड़ों के नेता वीर लाढसिंह ने पठानों और दिल्ली के बादशाहों से युद्ध करके अपनी वीरता का प्रमाण दिया।

इस तरह जाखड़ों के कई सरदारों ने औरंगजेब के समय तक राजस्थान और पंजाब के अनेक स्थानों पर राज किया।

अन्तिम समय में इनके सरदारों के पास केवल चार-चार अथवा पांच-पांच गांव के राज्य रह गये थे।

जाखड़ पाकिस्तान में सिंध व बिलोचिस्तान के प्रान्तों में बड़ी संख्या में हैं जो मुसलमान हैं।

राजस्थान-बीकानेर आदि कई स्थानों पर बसे हुए हैं। इनके कुछ गांव अलवर एवं जयपुर में भी हैं।

अलवर के चौ० नानकसिंह Jakhar आर्यसमाज के सेक्रेटरी (मन्त्री) थे और जयपुर के माखर गांव के चौ० लाधूराम जाखड़ शेखावाटी जाट पंचायत के प्रधान थे। कश्मीर में जाखड़ मुसलमान हैं।

हरयाणा प्रान्त के रोहतक जिले में जाखड़ जाटों के गांव निम्न प्रकार से हैं –

राजस्थान से जिला रोहतक में जाखड़ जाटों का एक दल आया। उसका नेता चौ० लाढसिंह था।

उसी के नाम पर यहां उसने सबसे पहले लडान गांव बसाया। यह जाखड़ों की राजधानी थी।

लडान गांव से जाखड़ों के अन्य गांव बसे। आज यहां जाखड़ जाटगोत्र के 19 गांव हैं।

इनके अतिरिक्त 19 गांव अन्य जाटगोत्र और दूसरी जातियों के जाखड़ खाप में शामिल हैं।

इस तरह से जाखड़ खाप के 38 गांव हैं। इनका ब्यौरा निम्नलिखित है –

  1. लडान का सतगामा – 1. लडान 2. हुमायूंपुर 3. जमालपुर 4. भूरावास 5. आमोली 6. नौगामा – ये जाखड़ गोत्र के हैं। 7. ब्रहड़ (अहीरों का गांव है)।
  2. साहलावास का सतगामा – 1. साहलावास 2. धन्या 3. सुन्दरहटी – ये जाखड़ गोत्र के हैं। 4. लीलाहेड़ी 5. सुधराणा 6. गोरिया 7. चान्दोल – ये दूसरी जाति या अन्य गोत्र के हैं।
  3. झाँसवा का सतगामा – 1. झाँसवा 2. मोहनबाड़ी (झांसवा खुर्द) 3. झाड़ली 4. बाजीतपुर 5. ढामा 6. देनीवास – ये जाखड़ गोत्र के हैं। 7. बीठला अन्य गोत्र का है।

4.अकेहड़ी मदनपुर का सत्तराह – 1. अकेहड़ी मदनपुर 2. मुण्डसहा 3. मादल शाहपुर 4. बिगोवा – ये Jakhar गोत्र के हैं।

अन्य गोत्र के 5. मुढाड़ा 6. निवादा 7. कुन्धराली 8. शाहजहांपुर 9. कनहवा 10. रेढूवास खुर्द 11. रेढूवास कलां 12. बिलोचपुरा 13. भिण्डास 14. कोयलपुर 15. खेतास 16. बम्बूलिया 17. चढवाना।

जाखड़ खाप का प्रधान गाँव लडान रहता आया है। जाखड़ खाप की प्रधानता आज भी लडान गांव में ही है।

Jakhar Jat gotra History and Lengends

Gems of Hooda Gotra

Narwal Jat Gotra

Gill Jat Gotra

Legends of Dahiya

Legends of Mor jat

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

1 Response

  1. 27/01/2019

    […] जाटों के गोत्र हैं – मान, जाखड, सिहाग, सहरावत, दहिया, बिजानियां, […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *