Jatram Blog

short brave story in hindi language

short brave story in hindi language

बहादुर छोटी लड़की की कहानी

 

एक बार साना चौधरी नाम की एक लड़की थी। वह सुजानपुर नामक एक छोटे से गांव में रहती थी।

गाँव एक ज्वालामुखी के पास था और पास के पहाड़ पर एक आँख वाला भयंकर शैतान रहता था। उसे मनोहर लाल कहा जाता था।

हर दिन मनोहर लाल गांव में उतर जाता और या तो किसी गरीब गाँव वाले का बच्चा या वयस्क उठा ले जाता था।

वह उन्हें अपनी गुफा में ले जाकर पहले उनके साथ कोई ना कोई खेल खेलता और धूर्तता से जीतकर उनका कत्ल कर देता था |

उस गाँव का कोई भी ऐसा घर नही था जिसमे से किसी ना किसी को उस शैतान का निवाला नहीं बनना पड़ा था |

  • short brave story in Hindi language

साना के पिता ताना राम जाट, दादा स्वरूप सिंह और 2 भाइयों (हीरा जाट, सिद्धार्थ जाट) को भी इसी शैतान ने मृत्यु के मुख में पहुंचाया था |

अब परिवार में सिर्फ साना और उसकी मा बचे थे |

साना को बचपन से ही तलवारबाजी का शोंक था पर पिता की मृत्यु के बाद उनकी तलवार भी उस शैतान की गुफा में ही रह गयी थी |

शैतान का सेवक एक भयानक ड्रैगन था जो हमेशा उसकी रक्षा करता था उस ड्रैगन की जान उस शैतान की आँख में थी |

short brave story in Hindi language

short brave story in Hindi language

  • short brave story in Hindi language

गाँव का मुखिया हेमराज गुज्जर चाहता था कि वह शैतान व ड्रैगन के बारे में हर ग्रामीण के साथ एक दिन बैठक करे।

मुखिया ने कहा, “जो कोई, काले कंकड़ को खींचेगा, वह ड्रैगन को मार देगा”। तालाब में फसे उस कंकड़ को केवल वही निकाल सकता था जो ड्रैगन से डरता नही था |

साना चौधरी वह लड़की थी जिसने काले कंकड़ को खींच लिया था, क्यूंकि उसकी मा ने उसे ड्रैगन से नहीं डरने की शिक्षा दी थी|

छोटी सी लडकी की निडरता देखकर सभी ग्रामीणों ने हाथ उठाकर तारीफ की जिसकी गूंज पहाड़ी के उपर तक पहुंच गयी |

शैतान ने बुलावा भेजा जिसने कंकड़ खिंची है उसे शाम तक पहाड़ पर भेजो नही तो उसका ड्रैगन पुरे गाँव को जला देगा |

सभी गाँव वाले डरकर अपने घरों में दुबक गये पर छोटी लडकी और उसकी माँ मुखिया के घर पहुंचे और उन्होंने मुखिया से कहा:

मेरा पूरा परिवार इस शैतान द्वारा खत्म कर दिया गया है और आज पुरे ग्रामीणों की जान को खतरा है मैं अपनी एक बेटी को बचाने के लिए सबको नहीं मरने दूंगी|

मुखिया फुट फुट कर रोने लगा और बोला तुम बहुत परोपकारी महिला हो जो अपने परिवार की अंतिम सदस्य को कुर्बान कर रही हो |

  • short brave story in Hindi language

short brave story in Hindi language

short brave story in Hindi language

लडकी को पहाड़ तक ले जाने के लिए कोई भी ग्रामीण आगे नहीं आया अंत में उसकी मा ने उसे अकेले ही जाने को कह दिया |

आखिरी बार गले लगकर उसने कहा बेटी अब तुम पर ही सबका जीवन निर्भर है यह काला कंकड़ लेकर जाओ और सावधानी से काम करना|

लडकी ने कंकड़ को अपने रुमाल में लपेटा और सर पर बाँध कर चल पड़ी| पहाड़ी का रास्ता बहुत दुर्गम था वह कई बार गिरी पर फिर उठती रही|

उसकी हिम्मत टूटने वाली ही थी तभी ड्रैगन को मारने के रास्ते पर उसे काले कपड़ों वाले एक आदमी से मुलाकात की।

उसने साना चौधरी से कहा “यहां एक तलवार है, इसके साथ शैतान को मार डालो” तो जब वह वहां पहुंची तो ड्रैगन सो गया था।

शैतान उसे देखकर जोर से चिल्लाया तुम क्यूँ आई हो जिसने कंकड़ खींचा उसे आना चाहिए था आज मैं उसका खून पिऊंगा |

लडकी डरी नही और निडरता से बोली मैंने ही वो कंकड़ खींचा है गाँव में उसे सिर्फ वही उठा सकता था जिसमे ये तीन खूबिय हो:

  1. जो ड्रैगन से ना डरता हो
  2. ना ही जिसने कभी झूठ बोला हो
  3. जिसने किसी का दिल ना दुखाया हो|

अब शैतान ने उसे एक खेल खेलने को कहा अगर वो जीत गयी तो सबको माफ़ कर देगा नहीं तो आज तुम्हे खा जाऊँगा|

  • short brave story in Hindi language

उसने लडकी से 4 सवाल किये

  1. शैतान – ऐसी कौन सी चीज है जो कितनी भी चले मगर कभी थकती नहीं?
    साना – जीभ।
  2. शैतान: औरत का ऐसा कौन सा रूप है जिसे हर कोई देख सकता है लेकिन उसका पति नहीं देख सकता है?
    साना  – विधवा का रूप।
  3. शैतान – ऐसी कौन सी चीज है जो सारे बच्चे खाते हैं लेकिन अच्छी किसी को नहीं लगती है
    साना – डांट-फटकार।
  4. शैतान: ऐसी कौन सी चीज है जो पानी पीते ही मर जाती है?
    साना – प्यास।

शैतान हार गया था पर उसें धूर्तता करते हुए लडकी को खा जाना चाहा तो लडकी बोली आप मुझे खा सकते है पर मेरी एक शर्त है |

लडकी आगे बोली आपका ड्रैगन मुझे तलवार से काटे और मेरा पहला टुकडा आप ड्रैगन को खिलाओ तब सही है |

शैतान ने गुफा से तलवार निकाली और ड्रैगन को जगाने चला गया लडकी ने तलवार को अपने पास रख लिया |

अब जैसे ही शैतान और ड्रैगन आये तो लडकी ने वो काला कंकड़ एकदम से शैतान की इकलोती आँख पर दे मारा|

आँख फूटते ही ड्रैगन वही ढेर हो गया और शैतान अँधा होकर इधर उधर टक्कर मारने लगा | बहुत देर इधर उधर हाथ पैर मारे पर लडकी को नही पकड़ पाया |

थक हारकर बैठ गया उसने सोचा लडकी भाग गयी होगी पर वह अँधा उसका पीछा नहीं कर सकता था | निराश होकर चट्टान पर सो गया |

short brave story in Hindi language

short brave story in Hindi language

  • short brave story in Hindi language

शैतान को अचेत देखकर लडकी गुफा से बाहर आई अब एक ही काम बचा था जो उसे अपनी सूझ बुझ से करना था |

जल्दी साना चौधरी चट्टान पर चढ़ी और उसने शैतान के सिर को तलवार से काटकर धड़ से अलग कर दिया और वह मनोहर लाल का अंत था।

अगले दिन सुबह बेचारी किसी तरह गिर पड़कर वापस गाँव लौटी तो गाँव में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी मुखिया ने उसे खूब शाबासी दी|

सभी लोग उसे घेरकर उससे पूरी कहानी पूछने लगे तो उसने बताया वह पहाड़ पर चढ़ते समय कई बार गिरी पर कोई गाँव वाला सहारा देने नहीं आया |

जब हिम्मत हारकर वह वापस लौटने की ठान चुकी थी तब काले कपड़ो वाला एक आदमी आया जिसने उसे शैतान को मारने का पूरा भेद बताया |

short brave story in Hindi language

इस तरह उसने पूरी स्टोरी सबको बताई अब सब सोचने लगे काले कपड़ो में कौन फरिश्ता आया था जिसने लडकी की मदद करी |

पर कोई भी यह बताने में समर्थ नहीं था कि वह कौन था | अंत में लडकी ने अपने घर जाकर वो काले कपड़े उठाकर लाई |

लडकी ने आगे कहा वो फरिश्ता कोई और नहीं मेरी माँ थी जिसने अंतिम समय में मेरा साथ नहीं छोड़ा और मुझे सफलता दिलाई |

क्योंकि गाँव में सब मर्द तो पहले ही डरकर छुप चुके थे पर माँ का दिल ही था जो उस नन्ही सी जान के लिए तडपता हुआ पहाड़ पर पहुंचा |

यह सुनकर उसकी माँ रो पड़ी और लडकी को सीने से लगा लिया उसे अपनी बेटी पर गर्व था जिसने सब कुछ जान लिया था |

असल में वो काले कपड़ो वाला उसकी माँ ही थी जो ममता के कारण अपनी सन्तान को अपनी जीवन से भी बढकर चाहती थी |

मुखिया ने तब दोनों से माफ़ी मांगी और भविष्य में निर्णय लिया कि किसी भी मुसीबत में अब पूरा गाँव एक साथ लड़ेगा |

short brave story in Hindi language

 

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *