daru badnam kardi

param singh | daru badnam kardi

ho, ho ho o o ho…

नि लक्क तेरा पतला जेहा
जदों तुर दी सितारा बल खावे
मोरनी जी टोर कुड़िये
हुन मुंडेया तो होश किथो आवे

नि लक्क तेरा पतला जेहा
जदों तुर दी सितारा बल खावे
मोरनी जी टोर कुड़िये
हुन मुंडेया तो होश किथो आवे

(हिन्दी-

अरे कमर तेरी पतली सी
जब चलती तब बहुत मटकती है
मोरनी जैसी चाल लडकी
अब लडकों को होश कैसे आये)

नि नागणी दी आँख वालिये
ओ नागणी दी आँख वालिये
नि नागणी दी आँख वालिये
सब कील दित्ते तू गबरु कंवारे

(हिन्दी-

नागिन जैसी आँख वाली
तू नागिन जैसी आँख वाली
अरे नागिन जैसी आँख वाली
सब कंवारों को तूने बस में कर लिया है)

param singh | daru badnam kardi | kamal kahlon 

param singh

ओ दारु बदनाम करदी
ए ता नैना तेरेया दे कारे

(हिन्दी-

ये शराब बदनाम करती है
जो तेरे काली आँखों से टपकती है)

ओ ठेकेया दे राह भूल गए
जदों तक ले शराबी नैन तेरे
नैना चो ढुल पहले तोड़ दी
गल बस च रही ना हुन्न मेरे

(हिन्दी-

शराब की दुकान का रास्ता भूल गये
जब से देख लि है शराबी आँख तेरी
आँखों से टपकती है top की शराब
बात अब मेरे बस से बाहर है)

ओह बिना डट खोले कुड़िये
बिना डट खोले कुड़िये
ओह बिना डट खोले कुड़िये
तेनु पीन फिरन इत्थे सारे ओ

(हिन्दी-

ये बिना ढक्कन खोले ही लडकी
बिना सील तोड़े ही लडकी
तुझे पीने को घूम रहे यहाँ सारे)

दारु बदनाम करदी
ए ता नैना तेरेया दे कारे

(हिन्दी-

ये शराब बदनाम करती है
जो तेरे काली आँखों से टपकती है)

Play or Download

daru badnam kardi | kamal kahlon

ओ पता करो केहड़े पिंड दी आ
कुड़ी गिधे च करायी अत्त जावे
ओ पता करो केहड़े पिंड दी आ
कुड़ी गिधे च करायी अत्त जावे

(हिन्दी-

यारों पता करो किस गाँव की है
जो लडकी नाचने में top कर रही है
यारों पता करो किस गाँव की है
जो लडकी नाचने में अंत कर रही है)

ओ डीजे दा कसूर कोई ना
कुड़ी चोबरां ते सीने अग्ग लावे
ओ डीजे दा कसूर कोई ना …

हिन्दी-

डीजे का कसूर कुछ नही है
लडकी दिल में आग लगा रही है
इस डीजे का कसूर कुछ नहीं …)

तू दिलं उत्ते कहर करदी
दिलं उत्ते कहर करदी
तू दिलं उत्ते कहर करदी
जग जिन्द जान तेरे उत्ते वारे

(हिन्दी-

दिल पर जुल्म ढा गयी
ये दिल पर अत्याचार कर गयी
दिल पे सितम कर गयी
दुनिया जिन्दगी जान तुझ पर कुर्बान किया)

ओ दारु बदनाम करदी
ए ता नैना तेरेया दे कारे

(हिन्दी-

ये शराब बदनाम करती है
जो तेरे काली आँखों से टपकती है)

 daru badnam kardi | kamal kahlon 

नि लक्क तेरा पतला जेहा
जदों तुर दी सितारा बल खावे
मोरनी जी टोर कुड़िये
हुन मुंडेया तो होश किथो आवे

(हिन्दी-

अरे कमर तेरी पतली सी
जब चलती तब बहुत मटकती है
मोरनी जैसी चाल लडकी
अब लडकों को होश कैसे आये)

नि नागणी दी आँख वालिये
ओ नागणी दी आँख वालिये
नि नागणी दी आँख वालिये
सब कील दित्ते तू गबरु कंवारे

(हिन्दी-

नागिन जैसी आँख वाली
तू नागिन जैसी आँख वाली
अरे नागिन जैसी आँख वाली
सब कंवारों को तूने बस में कर लिया है)

ओ दारु बदनाम करदी
ए ता नैना तेरेया दे कारे

(हिन्दी-

ये शराब बदनाम करती है
जो तेरे काली आँखों से टपकती है)

आपका छोटा सा भाई  रणधीर सिंह देशवाल

जिला रोहतक – हरियाणा
pin- 124001
धन्यवाद
जय हिन्द जय भारत

param singh | daru badnam kardi | kamal kahlon 

यह तो इन्टरनेट की पकड़ का ही जादू यह है कि यह तुरंत आपको प्रसिद्धि प्राप्त करने में मदद कर सकती है।

लेकिन इसका एक दूसरा पक्ष यह है कि जो भी आप यहां करते हैं, हमेशा के लिए रहता है और कभी-कभी सामग्री के समुद्र की गहराई में भी खो जाती है।

सुपर हिट पंजाबी ट्रैक ‘दारू बदनाम करदी’ का प्रारंभिक भाग्य भी इसी तरह था।

दो प्रतिभाशाली युवा संगीतकार कमल काहलों और Param Singh ने 2016 में एक गीत जारी किया

और daru badnam को वायरल सनसनी बनने में लगभग 2 साल लग गए।

जब आप उन्हें बताते हैं तो ज्यादातर लोग इस पर विश्वास नहीं करते हैं, लेकिन वह गीत जो अब हर श्रोता की आत्मा है, इसे 2016 में दुबारा जारी किया गया था!

अंततः लोगों ने अगले ट्रैक को जल्द ही रिलीज करने के लिए कहा, इसके बाद उन्होंने एक बड़ा प्रशंसक वर्ग प्राप्त किया।

आखिरकार उन्होंने एक दिन पहले एक नया गीत जारी किया और यह पहले से ही वायरल हो गया है।

इसका नाम ‘झांझर’ है और यह एक लड़की को लुभाने के बारे में एक स्टिक गीत है।

गीत 24 घंटों से कम समय में लगभग 1.4 मिलियन व्यूज को पार कर चुका है।

उनकी शैली अभी पंजाबी गायकों की नई पीढ़ी से अलग है और वे अपने संगीत में किसी भी तरह के नाटकीय रैप से दूर रहते हैं।

ऐसा लगता है कि वे यहां लम्बे समय तक रहने के लिए आये हैं।

हो पैरी झांझर पावे
हाँ दिल ते कहर मचावे
अखा विच काला सुरमा
यारां विच वैर पुआवे
यारां विच वैर पुआवे

तेरी वखरी अदावां सदके जावां
दूर क्यों जावे
तैनू कोल बुलाके हाल सुनावां
दिल दा हाए

हो तेन्नु दिलों मैं चावां नी
ओ बैरी पलका बिछावा नी
हो इक्क वारी हाँ कह दे मेनू
तेरे हर बोल पुगावा नी

हो पैरी झांझर पावे
हाँ दिल ते कहर मचावे
अखा विच काला सुरमा
यारां विच वैर पुआवे
यारां विच वैर पुआवे

param singh | daru badnam kardi | kamal kahlon 

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

Leave a Reply