chann kithan guzari aai raat ve – ਹਰਭਜਨ ਮਾਨ

chann kithan guzari aai raat ve

menda जी दलीलां दे वास वे
कोठे ते फिर कोठरा माहि

माहि कोठे बेठा ता भला
तू ते मन्नू भूल गया
मैं हुन्न भी तेरी वे भला

chann kithan guzari aai raat ve
menda जी दलीलां दे वास वे

कोठे ते फिर कोठरा
माहि कोठे सूक दिया तोरियाँ
कईयां रातां जाग के
मैं लब्बियाँ तेरियां चोरियां

chann kithan guzari aai raat ve
menda जी दलीलां दे वास वे

कोठे ते फिर कोठरा
माहि कोठे ते तंदूर भला
पहली रोटी तू खावे
तेंदे साथी नस्सदे दूर भला

chann kithan guzari aai raat ve
वे चन्न किथा गुजारी आई रात वे
menda जी दलीलां दे वास वे

कोठे ते फिर कोठरा
माहि कोठे सूक दी रेत भला
असा गुन्दाइया  मेहंदिया
तू किसे बहाने देख भला

वे चन्न किथा गुजारी आई रात वे

chann kithan guzari aai raat ve

menda जी दलीलां दे वास वे

कोठे ते फिर कोठरा
माहि कोठे दे विच बारिया
हुन्न तू वापस आ माहिया
वे तू जितिया मैं हारिया

chann kithan guzari aai raat ve
वे चन्न किथा गुजारी आई रात वे
menda जी दलीलां दे वास वे

मुस्किल है वक्त बिछोड़े दा
मुस्किल है वक्त बिछोड़े दा
ओ बिना यार गुजारा कौन करे
मुस्किल है वक्त बिछोड़े दा

ओ बिना यार गुजारा कौन करे
मुस्किल है वक्त बिछोड़े दा
ओ बिना यार गुजारा कौन करे
मुस्किल है वक्त बिछोड़े दा

एक दिन होवे ते लैंग जावे
एक दिन होवे ते लैंग जावे
ओ बिना यार गुजारा कौन करे

मुस्किल है वक्त बिछोड़े दा
एक दिन होवे ते लैंग जावे
एक दिन होवे ते लैंग जावे
हो सारी उम्र गुजारा कौन करे

chann kithan guzari aai raat ve

menda जी दलीलां दे वास वे
chann kithan guzari aai raat ve
menda जी दलीलां दे वास वे

हो सज्जना के एक इशारे पे
घर बार लुटाना पेंदा है
जे रूस जावे आशिक तो
नच नच मनाना पेंदा है

हो सज्जना के एक इशारे पे
घर बार लुटाना पेंदा है
जे रूस जावे आशिक तो
नच नच मनाना पेंदा है

chann kithan guzari aai raat ve

menda जी दलीलां दे वास वे
chann kithan guzari aai raat ve
menda जी दलीलां दे वास वे

chann kithan guzari aai raat ve

Searches related to harbhajan maan

काजले से ज़ादा काले
लगदे न ऐ उजाले
तेरे बिन ओवे महिया
ठंडिया हव्वावा आइयाँ
निंदिया उडा लई गइयाँ
अख न ए सोवे माहिया

तेरी याद च जगदी रही
मई तन तरिया दे साथ वे
चन्न किथां गुजारी ए रात वे
सच्ची दसदे जो है बात वे
चन्न दिलो जरा महसस तां कर
मेरे नैना दी बरसात वे…

Antra1

तेरे ख्याल दी तस्वीर लइके
वेखा तेरी रस्ते राह उत्ते बइके
भुल गया तुही वादे तेरे
आवांगे तू छेत्ती छेत्ती, गया सी ऐ कहके
चन्न डरा किते कि रह ना जावे
तेरी परछाई मेरे हाथ वे
चैन किथां….

टुटते तारियां तो मई मांगना ह की वे
तेरा नाल मेरा लगना है जी वे
तेरे बिन मेरे साह नहीं चलेंगे
इक तेरे विच मेरी है जिंदगी वे

चन्न बनी ना तू पथरा दी तराह
कदे समझ मेरे जज़्बात वे…

चन्न किथां गुजारी ए रात वे
सच्ची दसदे जो है बात वे

chann kithan guzari aai raat ve

harbhajan maan new song

sad song harbhajan maan

chann kithan guzari aai raat ve

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *