choudhary kabul singh baliyan
jat writer जाट इतिहासकार

choudhary Kabul singh Baliyan | Original source of Jat history | चौधरी कबुल सिंह बालियान

Spread the love

choudhary Kabul Singh Baliyan प्रसिद्ध जाट इतिहासकार थे । उनका जन्म मूलचंद बालियान के जाट परिवार में हुआ था।

 choudhary Kabul Singh Baliyan

 choudhary Kabul Singh Baliyan जी का जन्म 1899 उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के सौरम गांव में हुआ था | शाहपुर के नजदीक गांव सौरम, जो की बालियान गोत्र के जाटों का गाँव है। यह बुढाना से मुजफ्फरनगर जाने वाली सड़क से थोड़ा दूर है |

जाट इतिहास का मूल स्रोत choudhary Kabul Singh Baliyan

 choudhary Kabul Singh Baliyan ने सम्राट हर्षवर्धन बैंस के समय से सर्व खाप पंचायतों के इतिहास को संरक्षित रखा हुआ था । माना जाता है कि महाराजा हर्षवर्धन बैंस ने ही जाटों में खाप प्रणाली शुरू की हैं।

जाट ‘सर्व खाप’ के इतिहास में उल्लेख किया गया है, जो अभी भी choudhary Kabul Singh Baliyan के घर संरक्षित हैं कि जाट सर्व खाप ने 22,000 बहादुर जाटों को युद्धभूमि में भेजकर पृथ्वीराज चौहान को मजबूत किया, इन वीर जाटों की इसी सेना ने ही पृथ्वीराज को कई बार युद्ध जीतने के लिए बहुत सशक्त और बड़ा योगदान दिया था ।

मुहम्मद गौरी ने अपने अपमान का बदला लेने और पृथ्वीराज चौहान को पराजित करने के लिए फिर से हमला किया और तराइन के युद्ध में (1192) जीत हासिल करी थी । मुहम्मद गौरी ने इस जीत के बाद अपने अनुयायी कुतुब-उद-दीन ऐबक को दिल्ली में अपना राज्यपाल बनाया ।

 choudhary Kabul Singh Baliyan के पास जिनके पूर्वज सर्व खाप पंचायत के नेता थे, ‘सर्व खाप’ स्तर पर समय समय के सभी राजाओं के साथ बातचीत के पत्र, तांबे की प्लेटें और कागजात है, जो महत्वपूर्ण उस समय हुई वार्ता के रिकॉर्ड है।


शोरम में 5 और 6 अक्टूबर 2005 को सर्व खाप (कबीले) महापंचायत आयोजित की गई थी | इस दो दिवसीय सम्मेलन में बड़े पैमाने पर भ्रूण जांच के खिलाफ उपाय सुझाते हुए सहमती बनाई गयी थी ।

इस आयोजन की मेजबानी किसान नेता चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत ने की थी जो बालियान खाप के प्रमुख थे। यह एक बहुत बड़ा सम्मेलन था जिसमे 20 से ज्यादा खापों को आमंत्रित किया गया था | इस सम्मेलन का मकसद आपसी भाईचारे को बढाने और आपसी अविश्वास को खत्म करने के लिए जाना जाता है।

सम्मेलन में पहुचने वाले प्रसिद्ध अतिथियों की सूचि  choudhary Kabul Singh Baliyan

  1. दिल्ली के मुख्यमंत्री चौधरी साहिब सिंह वर्मा (लाकड़ा गोत्री),
  2. अवतार सिंह भडाना (कांग्रेस सांसद फरीदाबाद)
  3.  किशन सिंह सांगवान (भाजपा सांसद सोनीपत)
  4. राज्य सभा के सांसद हरेंद्र मलिक,
  5.  धीरेन्द्र सिंह ( मंत्री उतराखंड राज्य)
  6. जगदगुरु राजराजेश्वरनंद

पिछली बार 1956 में भी इस तरह की एक सर्वखाप पंचायत का आयोजन किया गया था।

 choudhary Kabul Singh Baliyan की मृत्यु सन 1991 में हुई थी उस समय वो 92 वर्ष के थे |

यह भी जरुर  पढ़े 

Leave a Reply

Your email address will not be published.