Jatram Home

chaudhary Om Prakash Chautala Biography | चौधरी ओम प्रकाश चौटाला

chaudhary Om Prakash Chautala Biography  चौधरी ओम प्रकाश चौटाला भारत के पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवी लाल के पुत्र हैं। उनके दो बेटे अजय चौटाला अभय चौटाला और तीन बेटियां सुचित्रा, सुनीता और अंजली हैं।

chaudhary Om Prakash Chautala

उनके पुत्र अभय एलेनाबाद से विधायक हैं और उनके पोते दुष्यंत चौटाला हिसार लोकसभा से एमपी हैं। वह 2 दिसंबर 1989 से 2 मई 1 990 के बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री रहे फिर  12 जुलाई 1 990 से 17 जुलाई 1990 तक, फिर से 22 मार्च 1991 से 6 अप्रैल 1991 और 24 जुलाई 1999 से 4 मार्च 2004 तक इस पद पर रहे |

chaudhary Om Prakash Chautala

राजनीतिक रूप से, वह राष्ट्रीय स्तर पर एनडीए और तीसरे मोर्चे (गैर-एनडीए और गैर-कांग्रेस ) का हिस्सा थे। वर्तमान में हरियाणा विधानसभा में उनका दल भारतीय राष्ट्रीय लोकदल मुख्य विपक्षी दल है और उनके पुत्र अभय सिंह चौटाला विपक्ष के नेता हैं।

व्यक्तिगत विवरण

chaudhary Om Prakash Chautala

  • जन्म 1 जनवरी 1935 (वर्तमान उम्र 83 वर्ष )
  • जन्म स्थान गाँव चौटाला, राज्य पंजाब, ब्रिटिश भारत
  • राष्ट्रीयता भारतीय
  • राजनीतिक दल भारतीय राष्ट्रीय लोकदल
  • पत्नी  स्नेह लता चौटाला
  • बेटे अजय सिंह चौटाला, अभय सिंह चौटाला
  • पिता पूर्व उप प्रधानमन्त्री चौधरी देवी लाल
  • वर्तमान निवास सिरसा जिला, हरियाणा
  • व्यवसाय किसान
  • पेशा  राजनेता

chaudhary Om Prakash Chautala पहली बार  2 दिसंबर 1989 को हरियाणा के मुख्यमंत्री बने और  22 मई 1 990 तक इस पद पर रहे थे | उन्हें गवर्नर हरि आनंद बारारी ने इस पद की शपथ दिलाई |

chaudhary Om Prakash Chautala

वह तत्कालीन मुख्यमंत्री चौधरी देवी लाल के केंद्र में जनता दल सरकार में उप प्रधानमन्त्री बनने के बाद प्रदेश के सर्वोच्य पद पर विराजमान हुए थे पर 22 मई को उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा था | उनके बाद बनारसी दास गुप्ता हरियाणा के मुख्यमंत्री बने |

chaudhary Om Prakash Chautala

इसके बाद 2 जुलाई 1990 को बनारसी दास गुप्ता सरकार के पतन के बाद  वो दुबारा मुख्यमंत्री बने और तत्कालीन राज्यपाल धनिक लाल मंडल ने उन्हें पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई | हरियाणा में ”आया राम गया राम” कहावत उसी समय प्रसिद्ध हुई थी |

हम पढ़ रहे है chaudhary Om Prakash Chautala

chaudhary Om Prakash Chautala

 

चौटाला की किस्मत कहें या उनका कर्म वो 2 जुलाई 1990 को एक बार फिर हरियाणा के तख्त पर बैठे लेकिन पांच दिन अंदर ही पार्टी के दबाव में उने सत्ता छोड़नी पड़ी | 5 दिन बाद 17 जुलाई 1990  को उन्हें पद छोड़ना पड़ा जिसके बाद हुक्म सिंह हरियाणा के मुख्यमंत्री बने थे |

chaudhary Om Prakash Chautala

भारतीय राजनीति के इतिहास में ओम प्रकाश चौटाला ऐसे गिने चुने नेताओं में शुमार हो गए हैं जिन्होंने किसी आरोप में दोषी करार दिया गया हो | अमूमन यही होता है कि भारतीय नेताओं पर आरोप तो बहुत लगते हैं, वो जेल भी चले जाते हैं लेकिन उन पर आरोप सिद्ध नहीं हो पाता है | चौटाला देश के ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं जिनको किसी आरोप में दोषी पाया गया है |

chaudhary Om Prakash Chautala

1999 -2000 के दौरान हरियाणा राज्य में 3,206 जूनियर बुनियादी शिक्षकों की नियुक्ति के संबंध में जून 2008 में chaudhary Om Prakash Chautala  और 53 अन्य आरोप लगाए गए थे।

जनवरी 2013 में दिल्ली कोर्ट ने chaudhary Om Prakash Chautala और उनके बेटे अजय सिंह चौटाला को आईपीसी के विभिन्न प्रावधानों और भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत दस साल की कारावास की सजा सुनाई थी। इस मामले में कथित तौर पर चौटाला को अवैध रूप से 3000 अयोग्य शिक्षकों की भर्ती के लिए दोषी पाया गया था।

 

अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई जांच का आदेश दिया था।

chaudhary Om Prakash Chautala 

उन्होंने निचली अदालत के फैसले के बाद दिल्ली उच्च न्यायालय और फिर भारतीय सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को चुनौती दी थी पर दिल्ली उच्च न्यायालय और सुप्रीम कोर्ट ने उनकी सजा को बरकरार रखा है।

जनप्रतिनिधि अधिनियम के अनुसार, किसी अपराध में दोषी और दो साल से अधिक के कारावास की सजा पाने वाला कोई भी व्यक्ति दोषसिद्धि से सजा खत्म होने के छह साल बाद तक चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य रहेगा.

chaudhary Om Prakash Chautala 

चाहे जो भी है पर chaudhary Om Prakash Chautala   को एक स्पष्टवादी नेता और कर्मठ संगठनकर्ता के तौर पर हमेशा जाना जाता रहेगा | वो जो बोलते थे मुंह पर बोलते थे पीठ पीछे किसी की चुगली नहीं करते थे | कोई बुरा माने तो माने |

यही एक साफ़ दिल के व्यक्ति की पहचान होती है | उनकी विरासत को उनके पोते बखूबी आगे बढ़ा रहे है और भविष्य में उनका खोया मुकाम जरुर हासिल करेंगे |

जय किसान जय हरियाणा

यह भी पढ़े

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *