Jatram Home

Bhupender Singh Hooda | Indian National Congress

Bhupender Singh Hooda भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनेता हैं जो 2005 से 2014 तक लगातार दस साल हरियाणा के मुख्यमंत्री बने रहे थे ।

Bhupender Singh Hooda

जब उन्होंने कांग्रेस की अगुवाई करते हुए चुनाव जीतने के बाद अक्टूबर 2009 में दूसरा कार्यकाल शुरू किया, तो 1972 के बाद यह पहली बार हुआ था कि जब हरियाणा के मतदाता ने सत्ताधारी पार्टी को दुबारा सत्ता सोंपी थी । इससे पहले यह रिकार्ड चौधरी बंसीलाल के नाम था जिन्होंने मुख्यमंत्री रहते चुनाव जीतकर दुबारा सत्ता हासिल की थी |

  • हुड्डा पंजाब और हरियाणा के बार कौंसिल के सदस्य भी हैं।
  • 2010 में, भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने
  • Bhupender Singh Hooda की अध्यक्षता में कृषि उत्पादन पर कार्य समूह का गठन किया
  •  कृषि उत्पादन और उत्पादकता बढ़ाने के लिए एक कार्य योजना की सिफारिश की,
  • जिसमें स्थायी कृषि विकास सुनिश्चित करने के लिए
  • लंबी अवधि की नीतियां बनाई गयी
  • जिससे किसानों को उत्पादन बढने के साथ साथ
  • फसल का उचित मूल्य देने पर भी गम्भीर प्रयास किये गये ।

उन्होंने ही भूमि अधिग्रहण कानून बनाया जिसमे किसान को 22 लाख रूपये प्रति एकड़ मुआवजा मिलने के साथ साथ 33 साल तक उस जमीन का 15 हजार रूपये प्रति वर्ष किराया (पट्टा ) दिए जाने का प्रावधान है | इस कानून की हरियाणा ही नही पुरे देश के किसान ने सराहना करी |

प्रारंभिक जीवन Bhupender Singh Hooda

  • Bhupender Singh Hooda का जन्म
  • हरियाणा के रोहतक जिले के सांघी गांव में
  • रणबीर सिंह हुड्डा और हरदेवी हुड्डा के घर हुआ था।
  • उनके पिता रणबीर सिंह हुड्डा एक प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी थे।
  • उनकी आरम्भिक शिक्षा सैनिक स्कूल, कुंजपुरा, करनाल से आरम्भ हुई ।
  • फिर अपनी बी.ए. और एलएलबी की पढाई पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़
  • दिल्ली विश्वविद्यालय से पूरी की है
  •  Bhupender Singh Hooda ने युवा कांग्रेस से अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया |

राजनीतिक कैरियर Bhupender Singh Hooda

Bhupender Singh Hooda

  • भूपिंदर सिंह हुड्डा को 1991, 1998, 1998 और 2004 में
  • रोहतक लोकसभा से संसद सदस्य के रूप में चुना गया ।
  • वह 2001 से 2004 तक हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता बने रहे।

हम पढ़ रहे है Bhupender Singh Hooda

  • 1996 से 2001 तक उन्होंने एचपीसीसी (हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी) के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया।
  • 1991 के अलावा लगातार तीन लोकसभा चुनावों में, 1996 और 1998 में उन्होंने चौधरी देवी लाल को हराया ।
  • चौधरी देवीलाल ने लगातार तीन बार जाटो के सबसे मजबूत गढ़ माने जाने वाले रोहतक में चुनाव लड़ा
  • तीनों बार चौधरी भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने उन्हें हराकर अपनी बादशाहत कायम रखी ।

उन्होंने यूएसएसआर में विश्व युवा समारोह, चीन में विश्व संसदीय सम्मेलन, यूएसएसआर में अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन, जापान और दक्षिण कोरिया में हुए अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि के तौर पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लिया।

उन्होंने हरियाणा के युवा किसान संघ के अध्यक्ष के तौर पर राजनीती की शुरुवात की उसके बाद वह मार्किट कमेटी रोहतक के सदस्य रहे | फिर उनको बैंक ऑफ इंडिया के निदेशक के तौर पर काम करने का मौका मिला, 1989-92 में वह किसान संसदीय फोरम, के सचिव भी रहे |

1991 से ही वो अखिल भारतीय स्वतन्त्रता सेनानियों के उत्तराधिकारी के रूप में संगठन के संस्थापक सदस्य और इसके कार्यकारी अध्यक्ष रहे |
राष्ट्रीय संघीय रेलवे पोर्टर, वेंडर और बीयरर्स राष्ट्रीय खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के कार्यक्षेत्र के अध्यक्ष बने |

we are reading Bhupender Singh Hooda

Bhupender Singh Hooda

फिर सभी राज्यों के ( केंद्र शासित समेत) कर्मचारी वेलफेयर ऑफ इंडिया (बोर्ड कर्मचारी संघों का सर्वोच्च निकाय) के अध्यक्ष रहे | उसके बाद उन्हें खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के कर्मचारी संघ का संरक्षक और अध्यक्ष चुना गया |

  • हरियाणा प्रदेश के युवाओं के लिए ओलंपिक खेलों को प्रथम पसंद बनाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए,
  • हुड्डा ने राज्य एथलीटों के लिए 2 करोड़ 50 लाख रुपये का नकद पुरस्कार घोषित किया,
  • जिन्होंने लंदन खेलों में किसी भी खेल में स्वर्ण पदक जीता था।
  • रजत पदक जीतने पर 1.5 करोड़ रुपये का नकद पुरस्कार
  • कांस्य पदक विजेता के लिए 1 करोड़ रुपये की भी घोषणा की गई है।

व्यक्तिगत जीवन Bhupender Singh Hooda

हुड्डा ने 1976 में मटीन्डू जिला सोनीपत त. खरखोदा निवासी श्रीमती आशा दहिया से शादी की

संभाले गए पद Bhupender Singh Hooda 

  • 1972 से 1977 – ब्लॉक कांग्रेस कमेटी, किलोई, हरियाणा
  • 1980 से 87 – वरिष्ठ उपाध्यक्ष, हरियाणा प्रदेश युवा कांग्रेस,
  • पंचायत समिति के अध्यक्ष रोहतक,
  • हरियाणा के पंचायत परिषद के अध्यक्ष।
  • 1997 – हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बने
  • 2002 से 2004 – हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता।

Bhupender Singh Hooda

रोहतक लोकसभा का रिकार्ड

  • 1991 – 10 वीं लोकसभा चौधरी देवीलाल को 30,573 वोटों से हराकर जीत दर्ज़ की ।
  • 1996 – 11 वीं लोकसभा फिर से चौधरी देवीलाल को 2,664 मतों के मार्जिन से हराकर निर्वाचित हुए ।
  • 1998 – 12 वीं लोकसभा  फिर से चौधरी देवीलाल को 383 मतों के मार्जिन से हराकर निर्वाचित हुए ।
  • 2004 – 14 वीं लोकसभा फिर से 1,50,435 मतों की बढत के साथ जीत दर्ज़ की ।
Bhupender Singh Hooda

मुख्यमंत्री हरियाणा चौधरी Bhupender Singh Hooda को अपनी पुस्तक जाट गजट भेंट करते लेखक चौधरी रणधीर देशवाल

हरियाणा विधानसभा का रिकार्ड Bhupender Singh Hooda

  • 1999 – गढ़ी सांपला किलोई 11,958 मतों के अंतर के साथ 9वीं इनलो प्रत्याशी को हराकर विधानसभा के लिए चुने गए। [ 54% वोट शेयर]
  • 2004 – गढ़ी सांपला किलोई 10वीं विधानसभा इनलो प्रत्याशी को हराकर 1,03,635 मतों के रिकार्ड अंतर के साथ चुना गया। [97% वोट शेयर]
  • 5 मार्च 2005 को – हरियाणा के मुख्यमंत्री (प्रथम बार) के रूप में शपथ ली
  • 2009 – गढ़ी सांपला किलोई से 11वीं विधानसभा इनलो प्रत्याशी को हराकर 72,100 मतों के अंतर के साथ चुने गए। [80% वोट शेयर]
  • 25 अक्टूबर 2009 को – हरियाणा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली (दूसरी बार)
  • 2014 – गढ़ी सांपला किलोई इनलो प्रत्याशी को हराकर 47,185 मतों के अंतर के साथ 12वीं विधानसभा के लिए चुने गए। [60% वोट शेयर]

मोदी सरकार आने पर भाजपा द्वारा बदले की भावना के तहत हुड्डा पर फर्जी केस बनाकर उनके उपर दबाब बनाने की कोशिस की गयी थी पर हुड्डा ने झुकने से इंकार कर दिया |

यह भी पढ़े 

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *