धर्मेन्द्र दियोल के 51 किस्से | He man Dharmendra Deol

He man Dharmendra Deol – जाट धर्मेन्द्र दिओल के अजब गजब किस्से  

महम चौबीसी से तो हम सभी परिचित हैं,   ये जाटों के 24 गाँवों की खाप है जिसमें सह-जातियाँ भी सम्मिलित होती हैं। लेकिन जाट बाईसी का नाम बहुत कम लोगों ने सुना होगा ।  

जाट बाईसी पूरी ऐतिहासिक घटना पर आधारित है। बम्बई से 180 कि. मी. दूर महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले की मालेगांव तहसील में जाटों के इकट्ठे छोटे-छोटे 22 गाँव हैं।

महम चौबीसी से तो हम सभी परिचित हैं,

पानीपत की तीसरी लड़ाई में पेशवा ब्राह्मण मराठे लगभग 4 हजार परिवार अपने साथ लाये थे।  

जब लड़ाई में इनकी हार हुई तो कुछ परिवार मारे गये और बचे-खुचे परिवारों ने भरतपुर नरेश महाराजा सूरजमल के राज क्षेत्र व किलों में पनहा ली थी।  

 महाराजा सूरजमल ने कड़कती सर्दी (जनवरी 1761) में इनको पूरे अतिथि सत्कार के तहत घायलों आदि की देखभाल की  

maharaja surajmal

इन परिवारों को इनके घरों तक  सकुशल पहुंचाने के लिए अपनी सेना के सिपाही साथ भेजे जो उन्हें बड़ी इज्जत और सम्मान के साथ वहाँ उनके घरों तक ले गये, जो उस समय किसी भी कल्पना से परे था।  

महाराजा सूरजमल और रानी किशोरी की शानदार मेहमान नवाजी तथा इन सिपाहियों की जिन्दादिली इंसानियत पर मराठा समाज कायल हो गया और इस समाज ने ऐसे नेक सिपाहियों, जिनकी शादियां नहीं हुई थी, को अपनी बेटियां देकर अपनी जम़ीन पर बसाने का फैसला लिया।  

समय अपनी गति से चलता रहा और आज लगभग 250 वर्ष बाद इनके 22 गाँव आबाद हो गये जो आज किसानी करके अपना निर्वाह करते हैं।  

क्या विश्व के इतिहास में ऐसा कोई दूसरा भी उदाहरण हैं? महाराजा सूरजमल की आलोचना करनेवालों के मुंह पर यह एक तमाचा है।  

यहाँ के तोखडा गाँव में फिल्म अभिनेता और नेता धर्मेन्द्र जी ने अपनी माता सन्तकौर देवी के नाम हाई स्कूल बनवाया है।   धर्मेन्द्र जी ने मुम्बई महानगर में पहली बार जाट सभा व जाट भवन की स्थापना की जिस पर जाट जाति को गर्व होना चाहिए।  

इन जाटों के गोत्र हैं – मान, जाखड, सिहाग, सहरावत, दहिया, बिजानियां, झिंझर, नीमड़िया, पुनिया, गिल, बेनीवाल और सांगवान (70 परिवार) आदि,  

इस जाट बाईसी के वर्तमान में चौ. धनसिंह सहरावत प्रधान हैं जिनका पता हैं:- गाँव – नारादाना, डाकखाना – कलवाड़ी, तहसील – मालेगांव जिला नासिक (महाराष्ट्र राज्य) (एक शोध प्रयास – लेखक)।  

धर्मेन्द्र दियोल के 51 किस्से 

1) 8 दिसम्बर 1935 को पंजाब में जन्मे फिल्म अभिनेता और‍ निर्माता धर्मेन्द्र का पूरा नाम धर्म सिंह दियोल है।


2) धर्मेन्द्र के पिता स्कूल हेडमास्टर थे।


3) अपने गांव से मीलों दूर धर्मेन्द्र ने एक सिनेमाघर में सुरैया की फिल्म ‘दिल्लगी’ देखी और इससे वे इतने प्रभावित हुए कि अपना करियर उन्होंने फिल्मों में बनाने का निश्चय किया।


4) धर्मेन्द्र ने 40 दिनों तक रोजाना ‘दिल्लगी’ देखी और इस फिल्म देखने के‍ लिए मीलों पैदल चले।


5) धर्मेन्द्र दियोल को जब पता चला कि फिल्मफेअर नामक पत्रिका नई प्रतिभा की खोज कर रही है तो उन्होंने भी फॉर्म भेजा।

6) धर्मजी ने कही से अभिनय नहीं सीखा था। इसके बावजूद उन्होंने तमाम प्रतिभाशाली लोगों को पीछे छोड़ा और वे इस टैलेंट हंट में चुन लिए गए।

He man Dharmendra Deol

7) धर्मेन्द्र को लगा कि अब उन्हें फिल्मों में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता, लेकिन ये बातें महज सपना साबित हुईं।

उन्हें जम कर संघर्ष करना पड़ा। कई बार सिर्फ चने खाकर बेंच पर सोकर उन्हें रात बितानी पड़ी।


8) फिल्म निर्माताओं के दफ्तर में चक्कर लगाने के लिए वे मीलों पैदल चलते थे ताकि पैसे बचा सके और उससे कुछ खा सके।

He man Dharmendra Deol


9) एक बार धर्मेन्द्र के ‍पास भोजन खरीदने के लिए पैसे नहीं थे। थके-हारे वे अपने रूम पहुंचे जहां टेबल पर उनके रूम पार्टनर का ईसबगोल का पैकेट रखा हुआ था।

भूख मिटाने के लिए धर्मेन्द्र ने पूरा ईसबगोल खा लिया। सुबह हालत खराब हो गई और डॉक्टर के पास उन्हें ले जाया गया।

डॉक्टर ने सारा माजरा सुन कहा कि इन्हें दवा की नहीं भोजन की जरूरत है।


10) अर्जुन हिंगोरानी की फिल्म दिल भी तेरा हम भी तेरे (1960) से धर्मेन्द्र ने अपने करियर की शुरुआत की।

हिंगोरानी परिवार का धर्मेन्द्र ने ताउम्र एहसान माना और उनकी कई फिल्मों में काम करने के बदले नाममात्र का पैसा लिया।

11) माला सिन्हा, नूतन, मीना कुमारी जैसी उस दौर की नामी हीरोइन के साथ धर्मेन्द्र ने काम किया।


12) धर्मेन्द्र दियोल का डील-डौल पहलवानों जैसा था। जिसको देख कई निर्माताओं ने उन्हें अभिनय छोड़ अखाड़े जाने की सलाह दी। कइयों ने कहा कि पहलवान, गांव लौट जाओ।


13) फूल और पत्थर धर्मेन्द्र के करियर की पहली बड़ी हिट थी। इसमें उन्होंने शर्टलेस होकर दर्शकों को चौंका दिया, लेकिन इसके लिए उन्हें आलोचना भी झेलनी पड़ी।


14) फूल और पत्थर की शूटिंग के दौरान फिल्म अभिनेत्री मीना कुमारी से उनकी नजदीकियां चर्चा का विषय रहीं।

मीना कुमारी के साथ रहते हुए उन्हें शायरी का शौक भी लगा और उन्हें सैकड़ों शेर याद हैं।

He man Dharmendra Deol


15) धर्मेन्द्र और मीना कुमारी की नजदीकियों से मीना के पति कमाल अमरोही नाराज हुए।

वर्षों बाद उन्होंने धर्मेन्द्र को लेकर ‘रजिया सुल्तान’ बनाई। एक दृश्य में उन्होंने धर्मेन्द्र का मुंह काला करवाया।

कहा जाता है कि उन्होंने इस तरह का सीन जानबूझ रख धर्मेन्द्र से बदला लिया।

Dharmendra Deol

16) धर्मेन्द्र दियोल को भले ही एक्शन हीरो के रूप में जाना जाता है, लेकिन धर्मेन्द्र ने कई हास्य और रोमांटिक फिल्में भी की हैं।


17) हिंदी फिल्म इतिहास के सबसे खूबसूरत हीरो में से धर्मेन्द्र एक माने जाते हैं। उनकी सेहत और चेहरे की चमक देख महान अभिनेता दिलीप कुमार ने एक बार कहा था कि वे अगले जन्म में धर्मेन्द्र जैसी शख्सियत पाना चाहते हैं।


18) दिलीप कुमार की धर्मेन्द्र बेहद इज्जत करते हैं। वे उन्हें अपना बड़ा भाई मानते हैं और अक्सर दिलीप कुमार के पैरों में बैठते हैं।

दिलीप कुमार से मिलने के लिए वे नियमित अंतराल से उनके बंगले पर जाते रहते हैं।

19) गोविंदा फिल्म अभिनेता धर्मेन्द्र के बहुत बड़े प्रशंसक हैं। जब गोविंदा की पत्नी गर्भवती थीं तब उन्होंने अपनी पत्नी को धर्मेन्द्र का फोटो दिया था ताकि उनका होने वाला बच्चा धर्मेन्द्र की तरह खूबसूरत हो।

यह बात धर्मेन्द्र को पता चली तो उनकी आंखों से आंसू आ गए। 


20) रितिक रोशन भी धर्मेन्द्र के फैन हैं। बचपन में उनके कमरे में धर्मेन्द्र का बड़ा पोस्टर लगा हुआ था।

कुछ वर्ष पहले रितिक के मस्तिष्क की सर्जरी हुई थी। ठीक होने के बाद सबसे पहला फोन उन्हें धर्मेन्द्र का ही आया था।

21) सलमान खान के भी प्रिय हीरो धर्मेन्द्र हैं। धर्मेन्द्र भी कई बार कह चुके हैं कि सलमान और उनमें कई समानताएं हैं और वे भी जवानी के दिनों में सलमान की तरह हुआ करते थे।

He man Dharmendra Deol

22) सलमान खान की फिल्म ‘प्यार किया तो डरना क्या’ में काम करने के बदले में धर्मेन्द्र ने एक पैसा नहीं लिया।

फिल्म का लंबा आउटडोर शेड्युल था। सलमान के पिता सलीम खान ने अपने बेटों से कहा कि वे धर्मेन्द्र का विशेष ध्यान रखें।


23) 2004 में धर्मेन्द्र ने भारतीय जनता पार्टी के टिकट से बीकानेर से चुनाव लड़ा था और विजयी हुए थे।


24) धर्मेन्द्र की पहली शादी मात्र 19 वर्ष की उम्र में प्रकाश कौर से हुई। धर्मेन्द्र ने अपनी पत्नी को मीडिया से सदैव दूर रखा।

He man Dharmendra Deol

25) धर्मेन्द्र और हेमा मालिनी की जोड़ी बालीवूड इतिहास की प्रसिद्ध जोड़ियों में से एक है। दोनों ने लगातार कई सुपरहिट फिल्में दी।

26) लगातार हेमा मालिनी के साथ काम करते हुए गरम धरम ड्रीमगर्ल को दिल दे बैठे।

उस समय हेमा के पीछे संजीव कुमार और जीतेन्द्र जैसे अभिनेता भी थे, लेकिन इनको पछाड़ कर धर्मेन्द्र ने बाजी मार ली और हेमा को अपना बना लिया।


27) कहा जाता है कि जीतेन्द्र और हेमा शादी करने वाले थे तब धर्मेन्द्र ने जीतेन्द्र की दूसरी गर्लफ्रेंड को इस बारे में बता दिया और शादी रूकवा दी।


28) शोले में वे ठाकुर का किरदार निभाना चाहते थे जबकि ‘शोले’ के निर्देशक रमेश सिप्पी चाहते थे कि धर्मेन्द्र, वीरू का रोल निभाए।

धर्मेन्द्र नहीं माने तो रमेश ने धमकाते हुए कहा कि संजीव कुमार को वीरू बना दूंगा जो कि हेमा मालिनी का हीरो है।

धमकी रंग लाई और धर्मेन्द्र फौरन वीरू का रोल निभाने के लिए तैयार हो गए।

He man Dharmendra Deol

29) शोले की शूटिंग के दौरान रोमांटिक सीन में धर्मेन्द्र जानबूझ कर गलती करते थे ताकि हेमा के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताने का मौका मिले। वे स्पॉट बॉय को भी गलती करने के पैसे देते थे।

He man

30) धर्मेन्द्र ने हेमा से शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन किया और इस्लाम अपनाया।

बीकानेर की मस्जिद में जाट धर्मेंद्र जी दिलावर खान बन गए जबकि पण्डित हेमा तिवारी ने रुखसार बेगम बनकर निकाह किया ।

हालाँकि धर्म परिवर्तन के बाद मनुवादी मिडिया के निशाने पर आ गए थे तब धर्म जी ने कहा था हम जाट है, हम धर्म नहीं माहौल बदलते है |

उनके इस बयाँ के बाद कट्टरवादी ताकतों की बोलती बंद हो गयी थी, क्योंकि हेमा तिवारी खुद ब्राह्मण परिवार से थी जिन्होंने एक जाट के प्यार में मुस्लिम पन्थ अपनाया था |

31) धर्मेन्द्र ने अपने लंबे करियर में तमाम नामी निर्देशकों के साथ काम किया। जिनमें बिमल रॉय, ऋषिकेश मुखर्जी, यश चोपड़ा, बीआर चोपड़ा, रमेश सिप्पी, मनमोहन देसाई जैसे दिग्गज शामिल हैं।


32) धर्मेन्द्र को टाइम्स मैगजीन ने दुनिया के दस खूबसूरत पुरुषों में जगह दी थी।


33) 80 और 90 के दशक में धर्मेन्द्र ने एक्शन भूमिकाएं निभाईं और उनके द्वारा बोला गया संवाद ‘कुत्ते तेरा खून पी जाऊंगा’ बहुत मशहूर हुआ।


34) पहली पत्नी से धर्मेन्द्र को दो बेटियां (विजयेता और अजीता) तथा दो बेटे (सनी और बॉबी) हैं। दूसरी पत्नी से उन्हें दो बेटियां (ईशा और आहना) हैं।


35) बॉबी देओल ने तो अपने एक बेटे का नाम धरम रखा है।

36) चार बार फिल्मफेअर पुरस्कार के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता की श्रेणी, एक बार श्रेष्ठ सहायक अभिनेता की श्रेणी और श्रेष्ठ कॉमेडियन की श्रेणी में धर्मेन्द्र का नामांकन हुआ, लेकिन उन्हें कभी यह पुरस्कार हासिल नहीं हुआ।

उन्होंने फिल्मफेअर लाइफटाइम अचिवमेंट अवॉर्ड्स के दौरान कहा कि कई बार उन्हें इस उम्मीद के साथ नया सूट सिलवाया कि अवॉर्ड मिलेगा, लेकिन नहीं मिला।

He man Dharmendra Deol


37) धर्मेन्द्र को बालीवुड का ही- मैन, एक्शन किंग और गरम धरम कहा जाता है।


38) धरम को गुस्सा बहुत जल्दी आता है और उनके गुस्से के कई किस्से प्रचलित हैं। जितनी जल्दी वे गुस्सा होते हैं उतनी ही जल्दी शांत भी हो जाते हैं। उनका दिल सोने का है।


39) हीरो के रूप में धर्मेन्द्र ने लंबी पारी खेली। एक दौर ऐसा भी था जब बाप-बेटे दोनों हीरो के रूप में आते थे और धर्मेन्द्र अपने बेटे से कही आगे थे।

सनी की हीरोइनों (अमृता सिंह, डिम्पल कपाड़िया, श्रीदेवी, जया प्रदा) के भी वे हीरो बने।


40) मल्टीस्टारर फिल्मों से धर्मेन्द्र ने कभी परहेज नहीं किया और तमाम स्टार्स के साथ स्क्रीन शेयर की।

41) 70 के दशक में वे सबसे महंगे सितारों में से एक थे।


42) शालीमार और रजिया सुल्तान जैसी महंगी फिल्मों के बुरी तरह फ्लॉप होने पर धर्मेन्द्र का करियर खत्म मान लिया गया था, लेकिन उन्होंने जबरदस्त वापसी की।


43) एक अध्ययन के अनुसार ‘हाइएस्ट ग्रासिंग स्टार ऑफ ऑल टाइम’ की लिस्ट में धर्मेन्द्र का नंबर चौथा है।


44) 1987 में 52 वर्ष की उम्र में धर्मेन्द्र की 11 फिल्में रिलीज हुईं जिसमें से 7 सफल रहीं।


45) गुलजार ने धर्मेन्द्र को लेकर ‘देवदास’ फिल्म आरंभ की थी, जो कुछ दिनों की शूटिंग के बाद बंद हो गई।

46) धर्मेन्द्र ने अपने लंबे करियर में कई हिट फिल्में दी और देश-विदेश में फैले अपने करोड़ों प्रशंसकों का अपनी फिल्मों से मनोरंजन किया।


47) शराब धर्मेन्द्र की कमजोरी रही है और शराब को लेकर उनके कई किस्से हैं।


48) धर्मेन्द्र ने कुछ बी ग्रेड फिल्मों में भी काम किया है। जब आलोचना बेटे सनी देओल तक पहुंची तो सनी के कहने पर उन्होंने इस तरह की फिल्मों में काम करना बंद कर दिया।


49) डांस हमेशा धर्मेन्द्र की कमजोरी रहा है। वे गानों में अपनी स्टाइल से डांस करते थे।

उनके कुछ सिग्नेचर मूव्ज़ है जिसकी नकल कई सितारों ने की है। ‘मैं जट यमला पगला दीवाना’ में उनका यह डांस देखते ही बनता है।

He man Dharmendra Deol

50) अपने दोनों बेटों, सनी और बॉबी, के साथ धर्मेन्द्र का खास रिश्ता है। प्यार और एकता की मिसाल है यह परिवार जिसके रिश्ते की मजबूत दीवार में कभी दरार नहीं देखी गई।

धर्मेन्द्र ने अपने बेटों के साथ अपने, यमला पगला दीवाना और यमला पगला दीवाना 2 में काम किया है।  

51) पंजाब ही नहीं धर्मेन्द्र हरियाणा के लोगों से भी बेहद प्यार करते है,जिसका कारण यह है कि वो खुद की जाट कौम पर बहुत गर्व करते है |

एक बार उन्होंने अपने चौकीदार की सिर्फ इसलिए भर्त्सना की थी क्योंकि उसने कुछ हरियाणवी जाट लडकों को उनसे मिलने से मना कर दिया था |

धर्मेन्द्र का मत है कि हरियाणा और पंजाब का कोई भी व्यक्ति आये तो उसके लिए उनके घर के दरवाजे हमेशा खुले है, वो बेरोक टोक उनसे मिल सकते है, उन्होंने कहा था हम जाट है हम हरियाणा पंजाब में रहते है पर हमारा खून एक है हमारी नश्ल एक है |

नमस्कार मित्रो अगर आपको जानकारी पसंद आई हो तो कमेन्ट शेयर और सस्क्राइब जरुर करे,  

He man Dharmendra Deol

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

Leave a Reply