Anita Kundu Mountaineer – The pride of JatLand – हमारी जांबाज़ बेटी

Anita Kundu Mountaineer

Anita-Kundu-Mountaineer

Anita Kundu Mountaineer  सभी तैयारी दुरुस्त..  आज शाम को जा रही हूं.. .. अपने देश की आन…..बान……शान राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा इंडोनेशिया की धरती पर फहराने एक ऐसी दुर्गम और टेक्निकल चोटी (कारस्टेन्स पिरामिड शिखर ) को फ़तेह करने का इरादा जो पूरे विश्व में एक ख़तरों की चोटी के रूप में जानी जाती है!!पर आप सभी की दुवाएं..शुभकामनाएं व मेरा जज़्बा.. हौंसला हमेशा चुनौतियों से लड़ने की आदत इस ख़तरे से पार पा लेगी |

 

Anita-Kundu-Mountaineer

Anita Kundu Mountaineer अभियान की शुरुआत हो चुकी है..हाथों में तिरंगा..दिल मे हौंसला और आप सभी की दुवाएं हर मुसीबत से पार पाने में मदद करेगी.. जब मैंने इस ख़तरों से भरे खेल से खेलना शुरू किया तब ये विदेशी साथी कहा करते कि आपके देश में कुछ लोगों ने एवरेस्ट तो फ़तेह की है पर कोई असली Mountaineer (पर्वतारोही) नहीं है.. अगर परमात्मा ने साथ दिया और आप सबकी शुभकामनाएं रही तो मैं इन सभी गोरों को झुठला दूंगी..ऐसा मेरा वादा है!

जाट गोत्र की लिस्ट पढने के लिए यहाँ क्लिक करे Anita Kundu Mountaineer

Anita-Kundu-Mountaineer

मेरा गेम बेशक़ से खतरों से भरा हुआ हो लेकिन आप सभी की दुवाएं मेरे क़दमो में ताक़त डाल देती है । मैंने 3 बार दुनियां की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट पे चढ़ाई की 2 बार फ़तेह करने में कामयाब भी रही । Anita Kundu Mountaineer अपने देश हिंदुस्तान की अनेकों चोटियों को फ़तेह किया । नेपाल की एक टेक्निकल चोटी Iceland को भी क़दमो से नापा । लेक़िन अभी जो इंडोनेशिया की Carstensz Pyramid पे तिरंगा फहराने निकली हूं ये चोटी पूरी दुनियां में एक अलग पहचान रखती है । इसी विशेषता की बदौलत इसको 7 महाद्वीपों की दुर्गम चौटियों में शामिल किया गया है । एक पर्वतारोही (Mountaineer) की जिंदगी बहुत जोख़िमों से भरी होती है ; उसे कई बार मौत का सामना करना पड़ता है । उसका होंसला बढ़ाने के लिए कोई तालियों की गड़गड़ाहट नहीं होती । उसको अगर आगे बढ़ते हुए कोई चोट आ जाये तो कोई उठाने वाला नहीं होता, अपनी मरहमपट्टी स्वंय करनी पड़ती है । किस समय पर क्या करना है, अपने निर्णय ख़ुद लेने होते हैं । कृत्रिम ऑक्सीजन के सहारे आगे बढ़ना होता है । मनमाफ़िक भोजन खाने को नहीं मिलता । -30° से -50° तापमान में भी ख़ुद को बीमारियों से बचाना पड़ता है । अविलांच (बर्फ़ीला तूफ़ान) आए या भूकंप…. चाहे जितनी विपरीत परिस्थितियां हो हर हाल में आगे बढ़ना होता है । तभी तो इसको साहसिक खेल कहा जाता है । बहुत कुछ सीखने को मिलता है इस दुर्लभताओं से भरे हुए खेल से । प्रणाम !

यह भी पढ़े जाटलैंड की शेरनियां Glorius Jat Girls यहाँ क्लिक करे

anita-kundu

किसी भी मंजिल के नज़दीक जाकर वापिस लौटना दुखदायी होता है..कुछ पल के लिए हमें नकारात्मका की ओर भी ले जाता है..पर जीत उन्ही की होती है जो इन परिस्थितियों को भी हंसते हुए एन्जॉय करते हैं.. मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ अनेकों विपदाओं से निकलते हुए आगे बढ़ रही थी..कल इंडोनेशिया की इस टेक्निकल चोटी पे देश का झंडा लहराने में सफ़ल हो ही जाती..पर अचानक मौसम ने करवट ली और बहुत ज़ोर की बारिश होने लगी.. कुछ पल भी वहां रुकना जिंदगी से खिलवाड़ करने जैसा होता..रैपलिंग के माध्यम से तुरन्त बेस कैम्प आना पड़ा..हमारी 10 साथियों की टीम है जिसमें मैं अकेली भारतीय हूं…2 विदेशी साथियों को चोट का भी सामना करना पड़ा…3 साथी शारीरिक पीड़ा से घिर गए हैं..अगर आज रात को मौसम ने साथ दिया और आप सभी की दुवाएं इसी तरह मिलती रही तो हम पांचो साथी फ़िर से आगे बढ़ेंगे..आप सभी दुवाएं करते रहो.. शेयर करते रहो.. ख़तरों सै मैं घबराती नहीं!! Anita Kundu Mountaineer 

Anita Kundu Mountaineer

Anita-Kundu-Mountaineer

साथियो जैसा कि आप सभी को पता है Anita Kundu Mountaineer जी पिछले 10 दिन से इंडोनेशिया की एक दुर्गम और टेक्निकल चोटी को फ़तेह करने गए हुए है । आज पूरे दिन और पूरी रात वे मौत को मात देते हुए आगे बढ़ेंगे । अगर परमात्मा ने साथ दिया तो कल हिंदुस्तान का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा इंडोनेशिया की इस सबसे ऊंची और खतरनाक चोटी पर लहराएगा । ये हम सब हिंदुस्तानियों के लिए गौरव का क्षण होगा । साथीयो वहां उनका होंसला बढ़ाने के लिए ना कोई तालियों की गड़गड़ाहट है, ना ही जयघोषों की ललकार है ! सिर्फ़ हम सब साथियों की दुवाएं, प्रार्थनाएं, और शुभकामनाएं ही उनके लिए राम-बाण का काम कर सकती है । जो भी साथी चाहे जिस धर्म, सम्प्रदाय, जाति से सम्बद्ध रखता हो, चाहे जिस गुरु में आस्था रखता हो, आज वो हर एक अपने-अपने तरीके से प्रार्थना करें । ताकि अनिता जी ख़राब मौसम, पहाड़ों में आने वाले बर्फ़ के तूफ़ान, टेक्निकल पॉइन्ट, कम ऑक्सीजन, और माइन्स टेम्प्रेचर से झुझते हुए ये कारनामा करने में सफल हो जाए । जो साथी आज इस पोस्ट को पढ़कर शेयर करेगा, कॉमेंट करेगा उन सबकी शुभकामनाएं, दुवाएं उनके क़दमो में ताक़त भरने का काम करेगी ।

कुश्ती के बादशाह दारासिंह रंधावा के बारे में पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

Anita-Kundu-Mountaineer

आज Anita Kundu Mountaineer ने कारस्टेन्स पिरामिड शिखर (इंडोनेशिया) को आज सुबह 9 बजे फ़तेह कर लिया..हरियाणा की लाडली हिंदुस्तान की बेटी ने एक बार फ़िर हम सब हिंदुस्तानियों के गौरव को बढ़ाया है..सात महाद्वीपों पे तिरंगा लहराने की पहल हो चुकी है..यदि माता-पिता और परिवारजन बेटियों को खुले में जीने की आज़ादी देंगे..उनको वैचारिक और सामाजिक स्वतंत्रता देंगे..उनको नए-नए क्षेत्रों का अनुभव प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे तो बेटियों का आत्म-विश्वास बढ़ेगा..वे नई बुलंदियों को छुएंगीं..सभी साथी ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें और आज इस कारनामे को हर एक हिंदुस्तानी के दिमाक तक पहुंचाने में मदद करें ताकि कोई भी बेटियों को कमजोर ना समझे !!

Anita Kundu Mountaineer

Anita-Kundu-Mountaineer

मैं ख़ुद को सौभाग्यशाली महसूस करती हूं.. और अपने सभी चाहने वालों को धन्यवाद देना चाहती हूं जिन्होंने मुझ पर भरोसा किया..और आपकी दुवाओं की बदौलत ये सब सम्भव हुआ..एक महिला के तौर पर सफ़र आसान नहीं रहा..लेकिन आख़िर जीत हुई.. अब मैं बिल्कुल ठीक हूं.. मौसम बहुत ख़राब था इसी वजह से सेटेलाइट भी काम नहीं कर पा रहा था.. सब ठीक रहा तो 24 मार्च को दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंच जाऊंगी Anita Kundu Mountaineer                                                                              

Anita-Kundu-Mountaineer

इसी 24 को आ रही हूं अपने वतन..अपने घर आने से बढ़कर कोई खुशी नहीं होती फिर साथ में अगर एक उपलब्धि हो तो ये खुशी और दुगुनी हो जाती है .. आप सभी साथियो..शुभचिंतकों.. भाइयों से प्रार्थना है कि आप कल एयरपोर्ट पर आने की बजाए 26.03.18 को C-1/22 Humayun Road पहुंचे..जैसा कि आप सभी को ज्ञात है कि मैं SIS की ब्रांड अम्बेसडर भी हूं तो वहां मेरे सम्मान में SIS के संस्थापक, अध्यक्ष श्री R.K.Sinha Sir (राज्यसभा सांसद) एक समारोह करने जा रहे हैं.. आप सभी भी अपना आशीर्वाद प्रदान करने के लिए इसमें अवश्य पहुंचे!! Anita Kundu Mountaineer   सम्पर्क सूत्र :- 7015803398……9991099989

Anita Kundu Mountaineer

Randhir Deswal

Hi, I am Randhir Singh a Solo Travel Blogger form Rohtak Haryana. I am a writer of Lyrics and Quotes.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *